बुधवार, 20 जून 2012

प्रकृति के विभिन्न रूप :

प्रकृति के विभिन्न रूप :


झुकाव दूसरी ओर क्यों है !




इसे क्या नाम दें !



यह पेड़ जो अपनी ज़वानी खो चुका है , बड़ी हसरत भरी निगाह से देख रहा है हरियाली को !



यह तो नीले आसमान में गर्व से सर ऊंचा किये खड़ा है !



पेड़ भी छतरी लिए खड़े हैं !



कुदरत की कलाकारी या चित्रकार की चित्रकारी !



स्टार्टलिंग स्टर्लिंग !



बादलों संग सूरज की आंख मिचौली !



सूरज संध्या की ओर !



पानी का इंतज़ाम !



11 टिप्‍पणियां:

  1. प्रकृति का आनंद लेना बहुत अच्छा लगता है |

    उत्तर देंहटाएं
  2. खुबसूरत फोटोग्राफ्स.... वाह!

    उत्तर देंहटाएं
  3. "यह पेड़ जो अपनी ज़वानी खो चुका है , बड़ी हसरत भरी निगाह से देख रहा है हरियाली को ! "


    एक डायलोग में ही बड़ी गहरी चोट कर दी डा० साहब, आपने !

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर चित्र और सुन्दर कैप्शन !

    उत्तर देंहटाएं
  5. बेहद सुन्दर छायांकन .

    उत्तर देंहटाएं