बुधवार, 14 अक्तूबर 2009

दिल्ली दर्शन ---रोड्स टू हैपीनेस

समर्धि और सम्पन्नता का रास्ता , यहीं से होकर जाता है। जी हाँ, यु एस , यु के और कनाडा का वीजा यहीं मिलता है। दिल्ली का चाणक्य पुरी क्षेत्र ।

शान्ति पथ




दूसरे एंगल से



कभी इन्ही लौंस में पंजाब से बसें भरकर आती थी, वीजा के लिए।


इस सड़क पर गर्मियों में भी तापमान बाकी शहर से तीन डिग्री कम रहता है। इधर से ड्राइव करना , दिल्ली में रहने का इनाम है।


सबसे बड़ा गोल चक्कर। बीच में पार्क , इतना बड़ा ---नेताओं का।
तभी तो जनता को गोल गोल घुमाते रहते हैं।







3 टिप्‍पणियां:

  1. वाह इस दर्शन से तो हम धन्य हो गये याद आया दिल्ली मे कदमों को घसीट्ते हुए भटकना ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. तारीफ़ के लिए शब्द कहाँ से लाऊं...बेमिसाल चित्र...
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं