मंगलवार, 4 जनवरी 2011

क्या ऐसी कलाकृतियाँ आपने देखी हैं कहीं ?

दिल्ली में एम्स का चौराहा यातायात की दृष्टि से सबसे ज्यादा व्यस्त चौराहों में से एक है ।
लेकिन यहाँ क्लोवर लीफ का प्रयोग करते हुए , इसे अब सिग्नल फ्री बना दिया गया है ।
चारों ओर घूमती बल खाती सड़कों के बीच बने हरे भरे पार्क बड़े मनभावन लगते हैं ।
इन्हीं पार्कों में बने ये स्टील स्प्राउट्स , इस जगह की खूबसूरती में चार चाँद लगा रहे हैं ।

आप भी घर बैठे इनका आनंद लीजिये :



एम्स चौराहा । पृष्ठ भूमि में एम्स अस्पताल ।


सड़क के बायीं ओर सिर्फ एक झुरमुट ।


पीछे एम्स की ईमारत ।


सड़क पर चलती लो फ्लोर ए सी रेड्लाइन बस ।


एक किलर ब्ल्यू लाइन भी ।


सड़क के दायीं ओर यह पार्क --पीछे सफदरजंग अस्पताल ।


इसी पार्क में ये फैला हुआ झुरमुट ।


दूसरी ओर से ।


ऊपर आसमान , नीचे घास का प्रतिबिम्ब ।


क्या आपने देखी है कहीं और ऐसी कलाकृतियाँ ?
बताइयेगा ज़रूर।

नोट : पूरा विवरण अंतर्मंथन पर पढ़ सकते हैं ।

15 टिप्‍पणियां:

  1. धन्यवाद डा. सा: इन तस्वीरों के लिए ,विवरण अंतर्मंथन पर पढ़ कर आये हैं.आकर्षक विवरण और फोटोग्र्फ्स हैं.

    जवाब देंहटाएं
  2. वाह जी एम्स वाले गोल चक्कर को आपने खूबसूरती से प्रस्तुत किया।
    इसे ही कहते हैं ब्लागरी, जो सबको दिखता है फ़िर भी अनदेखा हो जाता है, उसे ब्लॉगर खूबसूरती से पेश कर देता है।

    आभार

    जवाब देंहटाएं
  3. vaah kya bat hai

    kabhi yaha bhi aaye
    www.deepti09sharma.blogspot.com

    जवाब देंहटाएं
  4. पहले चाय पियेगे जी बाद मे देखे गे यह चित्र, आप ने पहले ही घुमा घुमा कर थका दिया, अब इतने सुंदर सुंदर चित्र बिना चाय पिये नही देखेगे:)

    जवाब देंहटाएं
  5. जी तसवीरें अच्छी है , पर शायद अर्बन मिनिस्र्टी ने इन स्टील के पौधो पर ऐतराज जताया था .

    जवाब देंहटाएं
  6. जी हाँ । लेकिन मेरे विचार से तो वह बेवज़ह था ।
    तभी तो अभी तक सलामत हैं ।

    जवाब देंहटाएं
  7. दिल्ली पहचानने में ही नहीं आ रही...सन २००३ के बाद दिल्ली जाना हुआ नहीं और इस बीच इतना कुछ हो गया...बहुत सुन्दर हो गयी है दिल्ली...दिल्ली लगती ही नहीं.

    नीरज

    जवाब देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर हैं सभी फोटोस.....

    जवाब देंहटाएं
  9. बहुत सुन्दर चित्र व उतनी ही सुन्दर कलाकृतियाँ !
    आपको लोहरी मुबारक !

    जवाब देंहटाएं
  10. संभव है,इस स्थान का विकास किसी और प्रयोजन से किया गया हो। मगर,देश के दो बड़े अस्पतालों के पास इसकी मौजूदगी रोगियों के परिजनों के लिए अच्छा माहौल बनाता हैं। थोड़ा रिफ्रेशमेंट हो उनका,तो वे भी अपने प्रियजनों की देखभाल प्रसन्न चेहरे से कर सकें।

    जवाब देंहटाएं
  11. बहुत सुंदर चित्र....दिल्ली के इस अनुपम दृश्य को प्रस्तुत करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद..

    जवाब देंहटाएं
  12. आप सब को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं.

    जवाब देंहटाएं
  13. Happy Republic Day..गणतंत्र िदवस की हार्दिक बधाई..

    Music Bol
    Lyrics Mantra
    Download Free Latest Bollywood Music

    जवाब देंहटाएं
  14. आकर्षक विवरण और फोटोग्र्फ्स हैं|

    आप सब को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं|

    जवाब देंहटाएं
  15. मान्यवर!
    उस मार्ग से जाते समय इसको कई बार देखा अच्छा लगा। आपने अपने ब्लॉग के माध्यम से इसके प्रति सौन्दर्यशास्त्रीय दृष्टि विकसित की है।


    डॉ. दिव्या श्रीवास्तव ने विवाह की वर्षगाँठ के अवसर पर किया पौधारोपण
    डॉ. दिव्या श्रीवास्तव जी ने विवाह की वर्षगाँठ के अवसर पर तुलसी एवं गुलाब का रोपण किया है। उनका यह महत्त्वपूर्ण योगदान उनके प्रकृति के प्रति संवेदनशीलता, जागरूकता एवं समर्पण को दर्शाता है। वे एक सक्रिय ब्लॉग लेखिका, एक डॉक्टर, के साथ- साथ प्रकृति-संरक्षण के पुनीत कार्य के प्रति भी समर्पित हैं।
    “वृक्षारोपण : एक कदम प्रकृति की ओर” एवं पूरे ब्लॉग परिवार की ओर से दिव्या जी एवं समीर जीको स्वाभिमान, सुख, शान्ति, स्वास्थ्य एवं समृद्धि के पञ्चामृत से पूरित मधुर एवं प्रेममय वैवाहिक जीवन के लिये हार्दिक शुभकामनायें।

    आप भी इस पावन कार्य में अपना सहयोग दें।
    http://vriksharopan.blogspot.com/2011/02/blog-post.html

    जवाब देंहटाएं